देवघर से 14 साइबर अपराधी गिरफ्तार, उनके पास से 25 मोबाइल, 52 सिमकार्ड 2 एटीएम कार्ड और 1 लैपटॉप बरामद

✍️ शेखर सुमन, देवघर

देवघर: साइबर थाना की पुलिस ने चौदह साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। साइबर थाना की पुलिस ने देवघर जिला के पथरड्डा ओपी क्षेत्र के बरदेही, पालाजोरी थाना क्षेत्र के पत्थरघटिया और अंगवाली, सारठ थाना क्षेत्र के कपसा और करौं थाना क्षेत्र के डिंडाकोली, गौरीपुर व जांत गांव से चौदह साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

सोमवार को इस बाबत आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में पूरे मामले की जानकारी देते हुए एसडीपीओ पवन कुमार ने बताया कि इन साइबर अपराधियों के पास से 25 मोबाइल, 52 सिम कार्ड, 2 एटीएम कार्ड, 2 पासबुक, 2 चेकबुक और 1 लैपटॉप बरामद किया गया है। गिरफ्तार अपराधियों में 21 वर्षीय कन्हैया कुमार उर्फ कानू दास, 24 वर्षीय मोहम्मद सरफराज, 19 वर्षीय मुनव्वर अंसारी, 20 वर्षीय हसन रजा, 45 वर्षीय लाल मोहम्मद अंसारी, 19 वर्षीय ताजमुल अंसारी, 19 वर्षीय समीर अंसारी, 22 वर्षीय सिकन्दर अंसारी, 21 वर्षीय आरिफ राजा, 25 वर्षीय सरफराज अंसारी, 28 वर्षीय प्रशांत सिंह, 20 वर्षीय दिलखुश कुमार सिंह, 19 वर्षीय सुरेंद्र रवानी और 19 वर्षीय रितेश रवानी का नाम शामिल है। एसडीपीओ द्वारा यह जानकारी दी गयी कि गिरफ्तार साइबर अपराधी कन्हैया, सिकंदर अंसारी और प्रशांत सिंह का आपराधिक इतिहास रहा है। इन तीनों पर पहले से दर्ज साइबर अपराध का मामला चल रहा है। इसके अलावे एसडीपीओ ने बताया कि इन साइबर अपराधियों द्वारा साइबर ठगी की घटना को अंजाम देने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जाते थे। साइबर अपराधी गूगल सर्च इंजन का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर लोगों को लॉटरी का प्रलोभन देकर पैसों की ठगी करते थे। साथ ही ये साइबर अपराधी फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को फोन करते हैं और उन्हें बताते हैं कि उनका एटीएम बंद होने वाला है। इसके अलावा केवाइसी अपडेट कराने के नाम पर भी ठगी की जाती है। इन अपराधियों द्वारा साइबर ठगी के लिए गूगल पे का भी सहारा लिया जाता था। साथ ही साइबर अपराधियों द्वारा वर्चुअल पेमेंट एड्रेस के माध्यम से भी ठगी की जाती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आप पसंद करेंगे