मेडिकल शिक्षा में ओबीसी और सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए आरक्षण का निर्णय स्वागत योग्य:- प्रतुल शाहदेव

रांची: भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि यूं तो सारे दल पिछड़ों और गरीबों के हितों की रक्षा की बात करते हैं लेकिन उसे धरातल में सिर्फ भाजपा के नेतृत्व वाली सरकारें उतारती हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बहुत दिनों से लम्बित मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ों और सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए आरक्षण को लागू करके एक बहुत सकारात्मक कदम उठाया है। इस निर्णय से जहां बड़ी संख्या में पिछड़ा वर्ग के छात्रों को लाभ मिलेगा तो वहीं सामान्य वर्ग के गरीबों का भी डॉक्टर बनने का सपना पूरा होगा। केंद्र सरकार के इस निर्णय से अब राज्य के मेडिकल कॉलेजों में केंद्र के कोटा के सीटों पर आरक्षण लागू हो जाएगा जिससे ओबीसी वर्ग के लिए एमबीबीएस के स्तर पर पंद्रह सौ से ज्यादा सीटें और पी जी के स्तर पर 2500 से ज़्यादा सीटें और सामान कोटे के गरीब छात्रों के लिए एमबीबीएस स्तर पर 550 व पीजी में लगभग 1000 छात्रों को दाखिले का लाभ मिलेगा।प्रतुल ने कहा कि पिछड़े वर्ग और सामान्य वर्ग के छात्रों को अभी तक सिर्फ केंद्रीय मेडिकल कॉलेजों में आरक्षण मिल रहा था। 2004 से 2014 तक कांग्रेस केंद्र में सत्ता पर आसीन हुई लेकिन उसने इन वर्गों के लिए इस क्षेत्र में कोई कदम नहीं उठाया। लेकिन अब मोदी सरकार के इस निर्णय के बाद विभिन्न राज्यों के अधीन आने वाले सैकड़ों मेडिकल कॉलेज में भी इन वर्गों को आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *