कुवैत के रिफाइनरी में झुलसे जमशेदपुर के कमलजीत का ईलाज सही रूप से जारी, कुणाल षाडंगी के ट्वीट पर भारतीय एंबेसी ने साझा की जानकारी, परिजनों से संपर्क भी हो गया

✍️ अनित कुमार सिंह

यूएई के कुवैत स्थित मीना अल अहमदी रिफाइनरी में गत 14 जनवरी को हुए ब्लास्ट में तीन कर्मचारियों की मौत हो गई थी, वहीं 11 कर्मचारी गंभीर रूप से झुलस गए थे। उन्ही में से एक जमशेदपुर के गोलमुरी निवासी कमलजीत सिंह भी हैं जिनका रिफाइनरी में हुए हादसे में पेट से ऊपर का हिस्सा 50% तक झुलस चुका है। हादसे के बाद कंपनी के एचआर ने उनके परिजनों को फोन कर जानकारी दी थी कि उनका इलाज कुवैत के अल् बबटेन अस्पताल में हो रहा, पर 15 जनवरी के बाद जमशेदपुर में उनके परिवार को कमलजीत के स्वास्थ्य के बारे में कोई सूचना नहीं मिल रही। जिसके बाद कमलजीत के परिवार ने इंडियन एंबेसी और राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग को पत्र लिखकर मदद मांगी, साथ ही परिजनो ने झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के उपाध्यक्ष रघुवर दास से भी मुलाकात कर मदद मांगी थी। दैनिक अखबार के माध्यम से जब यह खबर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाडंगी को हुई तो उन्होंने तत्काल केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर, कुवैत में भारतीय एंबेसी और वहां के भारतीय एंबेसडर सिबी जॉर्ज को इस संबंध में लिखा और बताया कि कमलजीत के परिजन उनके स्वास्थ्य के बारे में कोई खबर नहीं मिलने से काफी चिंतित है। इस संदर्भ में उनके परिवार की मदद की जाए। जिस पर भारतीय एंबेसी ने जानकारी दी है की एंबेसी के अधिकारी कमलजीत सिंह के परिजनों से संपर्क में आ गए हैं, साथ ही जिस अस्पताल में वो इलाजरत है वहां से भी परस्पर संपर्क साधे हुए हैं। एंबेसी ने यह भी बताया कि इस दुर्घटना में घायलों को देखने के लिए कुवैत के उप प्रधानमंत्री और कुवैत में भारत के एंबेसेडर सीबी जॉर्ज भी पहुंचे थे और सभी की चिकित्सा सही ढंग से हो रही। एंबेसी ने आपातकालीन संपर्क सूत्र भी शेयर किया है।
इस सूचना के प्राप्त होने के बाद पूर्व विधायक कुणाल षाडंगी ने भारतीय एंबेसी के अधिकारियों को धन्यवाद दिया है और आशा जताई है कि जमशेदपुर निवासी कमलजीत सिंह जल्द ठीक होकर अपने परिजनों के बीच होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आप पसंद करेंगे