बीस रुपये प्रति टन की भाड़ा बढ़ोतरी के बाद खत्म हुआ कोयलांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन का हड़ताल

विगत कई दिनों से जारी कोयलांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन का हड़ताल ₹20 प्रति टन के हिसाब से भाड़ा बढ़ोतरी के बाद समाप्त हुआ, जिससे ट्रक और हाईवा मालिकों में काफी हर्ष है। ज्ञात हो कि विगत कई दिनों से पूरे भारत कोकिंग कोल लिमिटेड में कोयलांचल ट्रक ओनर एसोसिएशन की ओर से चक्का जाम किया गया था, जिसके बाद रघुनाथपुर थर्मल पावर प्लांट में कोयला ट्रांसपोर्टिंग का कार्य करने वाली कंपनी ओम शारदा लॉजिस्टिक के प्रतिनिधियों ने ट्रक ओनर एसोसिएशन के सदस्यों के साथ वार्ता कर भाड़ा बढ़ोतरी का निर्णय लिया। एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण झा ने बताया कि हम लगातार कंपनी से भारत बढ़ोतरी की मांग कर रहे थे क्योंकि विगत कई महीनों से डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि और कोरोना वायरस के कारण हमारा ट्रक उद्योग को बहुत नुकसान हो रहा था, कंपनी को दो-तीन बार आवेदन देने के बाद भी कोई भी वार्ता के लिए सामने नहीं आ रहा था जिसके बाद हमने मजबूरन चक्का जाम करने का निर्णय लिया और जब पूरे भारत कोकिंग कोल लिमिटेड में कंपनी का कोयला ट्रांसपोर्टिंग का कार्य ठप हुआ तब उन्होंने भाड़ा वृद्धि का फैसला लिया हम आगे भी ट्रक और हाइवा मालिकों की हर समस्या का समाधान करने का भरपूर कोशिश करेंगे और एसोसिएशन के अध्यक्ष बब्लू उपाधयाय ने कहा कि आगे हम कोलेरी में लोडिंग अनलोडिंग को लेकर लंबी लड़ाई लड़ेंगे हम जल्दी उपायुक्त धनबाद और अन्य वरीय अधिकारी के साथ मिलकर मिलकर ट्रक मालिकों के हित में जो भी सकारात्मक कदम होगा उसे उठाने के लिए उनसे आग्रह करेंगे।

एसोसिएशन के महामंत्री अभिषेक सिंह ने कहा कि हम राज्य सरकार का आज जो निर्णय आया है ₹600 प्रति टिप टोल टैक्स देने की बात आ रही है, इस पर एसोसिएशन की अगली बैठक में चर्चा करेंगे और अगर यह शुल्क ट्रक और हाइवा मालिक को देना पड़ा तो हम इसका भरपूर विरोध करेंगे और किसी कीमत पे ये गाड़ी मालिक नही देंगे,भाड़ा वृद्धि के बाद ट्रक मालिकों ने एसोसिएशन के सदस्यों को फूल माला और गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। ट्रांसपोटिंग कम्पनी के तरफ से अजय सिंह और दीनबंधु गोस्वामी, एसोसिएशन के तरफ से प्रवीण झा, अभिषेक सिंह, बब्लू उपाधयाय, उमेश यादव, रंजीत सिंह, दिलीप सिंह, महादेव चटर्जी, दिलीप महथा,कार्तिक महथा,भिखारी ओझा,कपिल सिंह, टिंकू साव आदि थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *