हेमन्त सरकार में राष्ट्रविरोधी तत्व हो या उग्रवादी संगठन, हत्यारे हो या बलात्कारी सबका मन बढ़ गया है : दीपक प्रकाश

पश्चिमी सिंहभूम में अलग कोल्हान देश की मांग पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार को घेरते हुए कहा कि प्रदेश में राष्ट्रविरोधी तत्व हो या उग्रवादी संगठन, हत्यारे हो या बलात्कारी सबका मन बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार ने पहली कैबिनेट में ही देशद्रोहियों से जुड़े मुकदमों को वापस लेने का निर्णय लिया। इस फैसले ने राष्ट्रविरोधी तत्वों को मजबूती प्रदान किया। उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार ने राष्ट्रविरोधियों को स्पष्ट मैसेज देने का कार्य किया कि हेमन्त सरकार राष्ट्रविरोधियों के साथ है। उन्होंने कहा कि ऐसे तत्वों का इतना मन बढ़ गया है कि चाईबासा में स्थानीय पुलिस और थाने पर हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार ने आतंकवादियों का समर्थन करने के आरोपी स्टेन स्वामी मामले में एनआईए के जांच पर सवाल खड़े कर दिया। मृत्यु के बाद आतंक का समर्थन करने वाले स्टेन स्वामी को शहीद का दर्जा दे दिया। उन्होंने कहा कि स्पष्ट है कि सरकार की मंशा है ऐसे राष्ट्रविरोधी गतिविधियों को आगे बढ़ाना जो लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगने लगा है कि पूरे प्रशासनिक व्यवस्था सरकार के हांथ से निकल गयी है। उन्होंने कहा कि अलग देश की मांग करने वाले खुलेआम नियक्ति पत्र बांट रहे हैं और पुलिस को अंतिम पल में खबर मिल रही है। इसका मतलब साफ है कि सरकार की खुफिया तंत्र सोया हुआ है या सरकार ऐसे तत्वों को बढ़ावा दे रही है।

हेमन्त सरकार में उग्रवादी फिर से पैर पसार लिया

नक्सलियों द्वारा लगातार किसी न किसी घटना को अंजाम दिए जाने पर दीपक प्रकाश ने कहा कि हेमन्त सरकार में उग्रवादी संगठनों का मनोबल बढ़ गया है। उग्रवादी संगठन आए दिन उत्पात मचा रहे हैं। लेवी के लिए अपहरण, हत्या जैसी घटना फिरसे आम हो गया है। सरेआम पूल पुलिया उड़ा दिया जा रहा है। नक्सली संगठन के सक्रिय सदस्य राजधानी में शरण लिए बैठे हुए हैं और खुफिया तंत्र सोई हुई है। उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार या तो ऐसे लोगों को संरक्षण दे रही है या सरकार के हांथ से प्रदेश बाहर चला गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में ऐसे सभी गतिविधियों पर रोक लग गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आप पसंद करेंगे