मजदूर हमारे देश की ताकत हैं, उनके बीच जाति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए  -डॉ अजय

राष्ट्रीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य और जमशेदपुर के पूर्व सांसद,आईपीएस डॉ अजय कुमार ने झारखंड  सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री, आलमगीर आलम जी को पत्र लिखकर पूर्वी सिंहभूम, पोटका में मनरेगा मजदूरों के मजदूरी भुगतान में अनियमितता की तरफ ध्यान आकर्षित किया है।

डाॅ.अजय कुमार ने ग्रामीण विकास मंत्री को पत्र में कहा है मनरेगा ओबीसी व सामान्य वर्ग के मजदूरों को नियमित मजदूरी नहीं मिल रही है। मजदूरों का कहना है कि अन्य वर्ग के मजदूरों (एससी-एसटी) को उनकी मजदूरी का भुगतान नियमित रूप से किया जा रहा है, लेकिन उसी काम के लिए ओबीसी और सामान्य वर्ग के मजदूरों की अनदेखी की जा रही है। इन मजदूरों ने इस साल मई के महीने में ‘मेड़बंदी’ ‘डोभा’ जैसी महत्वपूर्ण मनरेगा परियोजनाओं के लिए कड़ी मेहनत की, लेकिन इन मजदूरों को समय पर भुगतान नहीं किया गया। आज ढाई महीने हो गए हैं लेकिन अभी तक उन्हें उनके श्रम का भुगतान नहीं किया गया है।

डॉ अजय ने अपने पत्र में अनुरोध किया है कि सभी मनरेगा मजदूर, जिन्हें अभी तक उनकी मजदूरी नहीं मिली है उन्हें उनकी मजदूरी का तुरंत भुगतान किया जाना चाहिए क्योंकि भुगतान न होने के कारण वे गरीबी रेखा के नीचे एवं भुखमरी की ओर बढ़ रहे हैं और हमारे मजदूर हमारे देश की ताकत हैं इसलिए उनके बीच जाति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *