रोम जल रहा था, नीरो बंशी बजा रहा था, झारखंड की बेटी जल रही थी, मुख्यमंत्री सीटी बजा रहे थे:- दीपक प्रकाश

दुमका की अंकिता सिंह हत्या कांड मामले पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने आज प्रेस वार्ता कर राज्य सरकार पर बड़ा हमला बोला।
उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार के 32 महीनो में सर्वाधिक पीड़ित राज्य की बहन बेटियां हुई है। राज्य में मई 2022तक बलात्कार के 4047 मामले सरकारी रिपोर्ट में दर्ज है। जिसमे सर्वाधिक पीड़ित आदिवासी और दलित समाज की बहन बेटियां हैं।

प्रकाश ने कहा कि होनहार बेटी रूपा तिर्की,संध्या टोपनो के साथ हजारों बेटियों के साथ दुष्कर्म ,अनेक की हत्या ने राज्य को भयभीत किया है। हेमंत सरकार में बेटियों को तेजाब पेट्रोल से जलाया जा रहा है। लेकिन सरकार संवेदनहीन बनी हुई है।
उन्होंने 23 अगस्त की अहले सुबह अंकिता जो झारखंड की बेटी थी के साथ दिल दहला देने वाली घटना हुई। जिससे केवल झारखंड ही नही देश में आक्रोश है।

प्रकाश ने आगे कहा कि राज्य सरकार की लापरवाही ने अंकिता की जान ले ली। घटना के दिन 12 बजे दिन तक दुमका जिला प्रशासन केवल खानापूर्ति करता रहा, क्योंकि वह एक गरीब की बेटी थी,पढ़ लिखकर शिक्षिका बनना चाहती थी। 12 घंटे बाद उसके पिता ने किसी तरह आर्थिक सहयोग जुटा कर उसे रांची रिम्स में एडमिट कराया।

कहा कि जहां अंकिता को दुमका के चिकित्सा अधिकारी ने मात्र 46प्रतिशत ही जला बताया वही रिम्स में उसे 90प्रतिशत बताया। पैसे के अभाव में वह रिम्स के जेनरल वार्ड में मौत से जूझती रही।
उन्होंने कहा भाजपा महिला मोर्चा और युवा मोर्चा के कार्यकर्ता धन्यवाद के पात्र हैं जिन्होंने उसे यथासंभव सहायता उपलब्ध कराई।

कहा कि आज हवाई जहाज से सैर पर जानेवाली सरकार यदि अंकिता केलिए छोटा जहाज भी उपलब्ध करा देती तो उसकी जान बच सकती थी।

कहा कि इस सरकार में पत्थरबाजों को बचाने केलिए हवाई जहाज है लेकिन अंकिता जैसे गरीब बेटियों केलिए नही।
उन्होंने सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई 10लाख की सहायता राशि पर कहा कि मुख्यमंत्री के नजरों में अंकिता के जान की कीमत 10लाख ही है। उन्हें बताना चाहिए कि यह कोई विशेष सहायता है या सरकार की मजबूरी।

उन्होंने अंकिता पर मुख्यमंत्री के बयान को गैर जिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री से ऐसे बयान की उम्मीद नही थी।

उन्होंने कहा कि अंकिता से घटित घटना अचानक नही है। दो साल से वह प्रताड़ित हो रही थी। उसके पिता ने थाना में शिकायत भी दर्ज कराया था लेकिन शाहरुख हुसैन और उसके बड़े भाई सलमान के दबाव में पुलिस प्रशासन मूकदर्शक बना रहा।
उन्होंने कहा कि डीएसपी मुस्तफा भी इसमें पूरी तरह संलिप्त है। यह झामुमो कार्यकर्ताओं केलिए खनिजों को लुटवाता है।चुनाव में झामुमो के एजेंट की तरह काम करता है।
कहा कि डीएसपी ने एफ आई आर में अंकिता की उम्र को बढ़ा दिया और आरोपी शाहरुख और नईम की उम्र घटा दिया ताकि जुवेनाइल एक्ट के तहत उसे बचाया जा सके।
उन्होंने कहा कि शाहरुख और उसका भाई सलमान दोनो का पीएफ आई से सम्बद्ध होने की बात सामने आ रही जिसकी एन आई ये जांच होनी चाहिए। और डी एस पी मुस्तफा पर भी हत्या के षड्यंत केलिए एफ आई आर दर्ज होना चाहिए।

कहा कि आज झारखंड में थाना, बी डी ओ , सीओ के पोस्टिंग की नीलामी हो रही।

उन्होंने कहा कि बात बात पर मोमबत्ती जुलूस निकालने वाले झामुमो कांग्रेस के लोग कहां है। कहां हैं सोनिया जी,राहुल जी,प्रियंका जी। कहां गए झामुमो कांग्रेस के विधायक सांसद नेता जिन्होंने अंकिता के परिजनों को छोटी संवेदना भी प्रकट नही की।

कहा कि आज न्यायपालिका ने इस घटना पर स्वत संज्ञान लेकर राज्य की जनता में विश्वास पैदा किया है। न्याय का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि झारखंड की बेटी को न्याय जबतक नही दिला देती तबतक चुप नही बैठेगी। उन्होंने घटना की एन आई ऐ जांच एवम परिवार में किसी को सरकारी नौकरी देने की मांग की।

उन्होंने पांडू ,पलामू की घटना पर भी आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि दलित आदिवासी के हित का दंभ भरने वाली सरकार में पांडू के दलितों की जमीन पर दबंग कब्जा कर रहे हैं।
कहा कि जनता सरकार से अब ऊब चुकी है।

भाजपा समाज में व्याप्त जनाक्रोश की अभिव्यक्ति है। भाजपा बूथ से लेकर प्रदेश तक सरकार के खिलाफ आंदोलन करेगी।

भाजपा ने प्रशिक्षण शिविर में अंकिता के परिजनों की सहायता केलिए एक लाख की राशि गुप्त दान से जुटाई। जिसे परिजनों को सौंपा जाएगा।

प्रेसवार्ता में महामंत्री डॉ प्रदीप वर्मा एवम महिला मोर्चा अध्यक्ष आरती कुजूर भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आप पसंद करेंगे