हैदरनगर-पंसा रोड की दयनीय स्थिति को देख भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाडंगी और युवा समाजसेवी मनीष सिन्हा ने उठाई आवाज, कहा: जल्द मरम्मती हो इस महत्वपूर्ण सड़क का

झारखंड राज्य का सबसे बड़ा पूल जो पलामू जिले को गढ़वा और झारखंड को दो राज्यों क्रमश: उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ से जोड़ता है, आज बदहाली का शिकार होते जा रहा है, वजह है पूल को जोडने वाली मुख्य सड़क हैदरनगर पंसा रोड की दयनीय स्थिति

विगत कई बर्षो में भी इस सड़क का सुध लेने वाला कोई नही और आज इस सड़क पे राज्य का सबसे बड़ा पूल बन कर अपनी वजूद पे रो रहा है। इस रोड पे चलना दूभर हो गया है, हर जगह गड्ढे के साथ बरसात होने के कारण कीचड़ जमा हो गया है। इस सड़क के कारण कई गाँव के लोग प्रभावित हैं। युवा समाजसेवी मनीष सिन्हा लगातार ट्विटर पर इस सड़क की बदहाली की ओर सरकार का ध्यान आकर्षित किया है। परंतु आज तक इस पर कोई भी आश्वासन नहीं मिला। मनीष सिन्हा का कहना है कि जनप्रतिनिधियों की नाकामी और उदासीनता का एक जीता जागता उदाहरण है यह सड़क। आज उनके ट्वीट पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाडंगी ने ध्यान दिया और केंद्रीय सड़क निर्माण व परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा को इस सड़क की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए माँग की है की जल्द इस मामले में संज्ञान लेने की कृपा करे। इस सड़क के कारण हजारों लोग प्रभावित हैं।

उसी क्षेत्र के निवासी मनीष बताते है कि आपातकाल मे कई बार गर्भवती महिला या बीमार व्यक्ति इस सड़क के कारण सही समय पर अस्पताल नही पहुचने के कारण जान गवां चुके हैं। पंसा गांव से हैदर नगर की दूरी मात्र दस किमी है पर इसे तय करने में घंटे भर लग जाते है। आशा है केंद्रीय मंत्री या मुख्यमंत्री इस ओर जरूर ध्यान देंगे और इस सड़क का जल्द कायाकल्प होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *